पंजाब में धार्मिक स्थल और मॉल को खोलने की तैयारी

पंजाब में धार्मिक स्थल और मॉल को खोलने की तैयारी

पंजाब में अब तक कुल 2718 लोगों को कोरोना संक्रमण हो चुका है। इनमें 55 की जान भी यह खतरनाक वायरस ले चुका है। इस खौफ के बीच पंजाब सरकार ने कुछ शर्तों के साथ धार्मिक स्थलों और दूसरी कई सारी सुविधाओं को अनलॉक करने का प्लान तैयार कर लिया है।

अमृतसर में दुर्ग्याणा तीर्थ, श्री राम तीर्थ, जालंधर में श्रीदेवी तालाब मंदिर और पटियाला में श्री काली देवी जी मंदिर समेत प्रदेश के कई बड़े धार्मिक स्थल ही नहीं, बल्कि छोटे मंदिर भी कल से खुल जाएंगे। मंदिरों में 20 से ज्यादा श्रद्धालुओं के इकट्‌ठा होने पर पाबंदी रहेगी, वहीं सैनिटाइजेशन और दूसरे ऐहतियाती नियमों का पालन भी करना होगा।

राज्य में कर्फ्यू के दौरान घरों को लौट गए प्रवासी मजदूर भी अब लौटने का मन बना चुके हैं। सूबे की इंडस्ट्री में तीस फीसदी लेबर के साथ प्रोडक्शन हो रहा है। ऑर्डर को पूरा करने के लिए अधिक लेबर की जरूरत है। ऐसे में उद्योगपति उनके आने का खर्च उठा रहे हैं। इतना ही नहीं किसान भी धान की रोपाई के लिए अन्‍य राज्‍यों से श्रमिकों को लाने के लिए पहल कर रहे हैं और विशेष बसें भेज रहे हैं। हालांकि ट्रेनों की संख्या कम होने के चलते इन्हें खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

जालंधर की मकसूदां स्थित सब्जी मंडी में रविवार को छुट्टी की आड़ में आढ़तियों ने फड़ पर अस्थायी शेड बना लिए हैं। आढ़तियों का कहना है कि बारिश के कारण कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है, जिसके चलते यह अस्थाई शेड डाले गए हैं। वहीं, जिला मंडी अधिकारी देवेंद्र सिंह बताते हैं कि मामले की जांच के उपरांत कार्रवाई की जाएगी। बीते दिनों मंडी में फुटकर सब्जी बेचने वालों ने दो महीने बाद फिर से फड़ियां लगाने की कोशिश की तो आढ़ती उनके विरोध में आ गए। बाद में इन्हें पुलिस ने खदेड़ा था।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *