अब होगा लक्ष्मी तिवारी के फर्जीवाड़े का खुलासा

अब होगा लक्ष्मी तिवारी के फर्जीवाड़े का खुलासा
  1. राजस्थान पुलिस के हत्थे चढ़ा लक्ष्मी तिवारी का साथी घनश्याम दत्त भारद्वाज

  2. लक्ष्मी तिवारी से भी हो सकती है पूछताछ

देहरादून (चीफ ब्यूरो)। काफी सालों लोगों को लोन दिलवाने के नाम पर ठगी कर चुकी लक्ष्मी तिवारी, ज्योति तिवारी, शिवम जैन, अनिल मोहन भारद्वाज व अन्य इन सभी ने लोगों को धोखा देकर कभी पशुपालन, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के नाम पर लोन दिलवाने का झांसा देकर उनसे लाखों रूपये ठंग लिए। परन्तु इनके खिलाफ देहरादून की वेबश मित्र पुलिस कुछ न कर पाई। परन्तु अब स्थिति कुछ ओर है।
सुत्रों की माने तो राजस्थान की बड़मेर पुलिस ने घनश्याम दत्त भारद्वाज को 7 दिन कि पुलिस रिमाण्ड पर ले लिए है। सुनने में आ रहा है कि घनश्याम दत्त भारद्वाज ने देहरादून निवासी लक्ष्मी तिवारी पत्नी अशोक चन्द तिवारी निवासी मोहनी रोड व अनिल मोहन भारद्वाज निवासी हरिद्वार व अन्य के नामों का खुलासा कर दिया है। अब स्थिति स्पष्ट है कि कहीं न कहीं लक्ष्मी तिवारी पर पुलिस कोई एक्शन ले सकती है।
अब देखना यह है कि बकरे की मां कितने दिन खेर मनाईगीं।

रेलवे भर्ती में भी फर्जीवाड़ा

  • दोनो मामलों में लक्ष्मी तिवारी के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने किया मामला दर्ज

  • देहरादून पुलिस महिला के खिलाफ कार्रवाही करने में नाकाम

  • महिला के खिलाफ देहरादून कोर्ट से भी हो चुके अरेस्ट वाॅरेट जारी

  • अभी भी महिला इलाहाबाद बैंक व बैंक आॅफ बड़ौदा से लोन करवाने की कर रही है बात

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के जरिये फर्जी लोन करवाने के बाद महिला व उसके साथियों के नाम रेलवे में फर्जी नौकरी लगवाने में भी सामने आ रहे है। लक्ष्मी तिवारी, अनिल मोहन भारद्वाज, घनश्याम दत्त भारद्वाज व शिवाजी फौजी इन सभी के नाम प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत लोन करवाना और रेलवे में फर्जी तरीके से नौकरी लगवाने के साथ-साथ आवेदनकर्ता को यह चारों लोग फर्जी आवेदन पत्र भी जारी करते थे। लक्ष्मी तिवारी व उसके साथियों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने पीएमकेपीवाई और रेलवे में फर्जी भर्ती करवाने के नाम पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस में दर्ज मामले के मुताबिक महिला व उसके साथी फर्जी कागजात बनाकर लोगों को ठगते है। महिला के साथियों के खिलाफ कई राज्यों में धोखाधड़ी के बड़े मामले दर्ज है। लक्ष्मी तिवारी अपने परिवार के साथ मिलकर देहरादून से नेटवर्क चला रही है। महिला के खिलाफ देहरादून कोर्ट से भी आॅरेस्ट वाॅरेट जारी हो चुके है। परन्तु दून पुलिस महिला के छोटे-छोटे मामले समझकर छोड़ देती है। अब देहरादून पुलिस यह सोच रही है कि महिला कोई बड़ी धोखाधड़ी करे तब उसे पकड़ा जायें।

लोन वाली मैडमों से हो जायें सावधान!

लक्ष्मी तिवारी पत्नि श्री अशोक चन्द तिवारी, निवासी मोहनी रोड, नया गांव, (पूर्व पता एमडीडीए, मुकेश चक्की वाले के सामने)।
लक्ष्मी तिवारी किसी परिचय की मोहताज नहीं है। एनजीओ संचालिका के रूप में अपना सफर तय करने वाली लक्ष्मी तिवारी ने हजारों लोगों को पशुपालन के फर्जी लोन दिलवाये, ये एमडीडीए व आसपास के लोग भंलिभाति जानते है।
छोटे-मोटे लोन दिलवाने के बाद लक्ष्मी तिवारी ने हरिद्वार के अनिल मोहन भारद्वाज के साथ मिलकर 50 से 70 लाख का लोन दिलवाने के नाम पर भी देहरादून के काफी लोगों से 1 से डेढ़ लाख रूपये गबन कर लिये। लोगों की मेहनत की लाखों की कमाई हजम करने के बाद लक्ष्मी तिवारी की नई साथी डाॅ0 सुजेन (फर्जी नाम) के साथ मिलकर अब एमडीडीए में ही रेहबर फाउंडेशन के नाम से सिलाई सेंटर खोल कर बैठ गई है। भगवान ही जानता है कि आगे इस सेंटर का क्या होगा?
लक्ष्मी तिवारी की साथी डाॅ0 सुजेन भी किसी परिचय की मोहताज नहीं है। सुत्रो की माने तो डाॅ0 सुजेन पंजाब के लुधियाना शहर की जान पड़ती है। सुत्रों के हवाले से पता चला है कि यह महिला भी पूर्व किसी एनजीओ से सम्बंधित थी। महिला ने अपने एनजीओ के माध्यम से प्रमाण पत्र जारी किये थे, जिससे की इन्कम टैक्स में छुट मिलती थी। जब इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट ने अपने स्तर से छानबीन कि तो ये प्रमाण पत्र फर्जी पाये गये। इसी मामले में महिला पर कार्रवाही की गई और उसका एनजीओ भी बंद कर दिया गया तथा इसकी सारी आईडी भी जब्त कर ली गई। सुनने में आया कि महिला इसी फर्जी वाडे के तहत लुधियाना शहर से फरार है। महिला के पास कोई परिचय पत्र भी नहीं है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि महिला का खुद का परिचय क्या है।
ये दोनों महिला अभी भी लोगों को लोन दिलवाने के नाम पर उनसे पैसे ऐठ रही है। कृपया इनके झांसे में न आकर इनके बारे में ठण्डे दिमाग से जानकारी प्राप्त कर लें।
आपको या अन्य किसी को भी इन दोनों महिलाओं के फर्जी वाड़े की जानकारी चाहिए तो कृपया आप हमसे सम्पर्क कर सकते है।
9058860438, 8126046085
administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *