ई लोक अदालत का आयोजन

ई लोक अदालत का आयोजन

हरियाणा राज्य मे  ई लोक अदालत का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन माननीय जस्टिस राजीव शर्मा द्वारा किया गया और जिला फरीदाबाद मे न्यायाधीश दीपक गुप्ता ज़िला एव सत्र न्यायाधीश फरीदाबाद व न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे सीजेएम एंव सचिव ज़िला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद के मार्गदर्शन मे ज़िला न्यायालय फरीदाबाद मे ई लोक अदालत का आयोज़न किया गया।
न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि ई लोक अदालत जिसमें की कई बेंच बनाई गई और दुर्घटना मुआवज़ा केस चैक बाउंस केस पारिवारिक व वैवाहिक मुकदमो का ई लोक अदालत मे निबटारा किया गया।

न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि जिसमे 1502 केस अदालत मे रखे गए और 972 केसों का निबटारा किया गया इसके अलावा कुल 2 करोड़ 72 लाख 61 हज़ार 946 रुपये सेटलमेंट राशि के रूप मे ई लोक अदालत के माध्यम से राशि का निस्तारण किया गया बाहर से आये हुए लोगो को सोशल डिस्टनसिंग पालन किया गया और लोगो की सहायता के लिए हेल्प डेस्क की व्यवस्था की गई थी. ई लोक अदालत को सफल बनाने मे सभी अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश व सिविल जज व सदस्यगण लोक अदालत एवं नोडल अधिकारी ने ई लोक अदालत को सफल बनाने मे विशेष योगदान दिया।

न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि ई लोक अदालत को सफल बनाने के लिए दो नोडल अधिकारी एडवोकेट निबरास अहमद व एडवोकेट दीपशिखा भारद्वाज को नियुक्त किया गया था ताकि बेच व हेल्प डेस्क ड्यूटी पर तैनात अधिवक्ताओं के बीच समन्वय बना रहे.उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए शुक्रवार को जिला न्यायालय परिसर में ई-लोक अदालत का आयोजन किया गया। हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए ई-लोक अदालत का आयोजन किया गया न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने बताया यह अदालत पूरी तरह से डिजिटल थी और अगर इसके बावजूद भी कोई व्यक्ति अदालत परिसर में आता है तो उसके लिए पूरे इंतजाम किए हुए थे न्याय परिसर केे सभी इंट्री गेटो पर पैनल अधिवक्ता है व पुलिस के जवानों की ड्यूटी लगाई गई और अगर कोई भी लोक अदालत के नाम से आता भी है तो उसको पूरी तरह से मास्क प्रयोग करने सैनिटाइजर प्रयोग करने के बाद ही इंट्री दी जाती है उन्होंने बताया कि कोरोना के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा गया था और किसी व्यक्ति को भी बिना परमिशन के अंदर आने की इजाजत नहीं दी गई न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने बताया की अगर भविष्य में लोक अदालत की जरूरत पड़ती है तो वह भी लगाई जाएगी लेकिन उन्होंने साथ ही ईश्वर से दुआ करते हुए कहा कि कोरोना महामारी जैसी परिस्थिति नहीं आए और जिस तरह लोग कोरोना का मात देने के लिए प्रतिदिन जागरूक होते जा रहे हैं यह सभी के लिए हितकारी है इसके लिए तो सावधानी ही सुरक्षा है फेस मास्क सोशल डिस्टेंसिंग और साफ सफाई के अलावा खानपान पर भी अधिक ध्यान आवश्यक है।

न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि ई लोक अदालत के लिए नोडल अधिकारी एडवोकेट निबरास अहमद व एडवोकेट दीपशिखा भारद्वाज की ड्यूटी के अलावा ई लोक अदालत में डयूटी के दौरान पैनल अधिवक्ताओं शिवकुमार शर्मा रामवीर तंवर संजय गुप्ता नीना शर्मा रविंद्र गुप्ता आरसी गोला नीलम रॉय मनमीत कौर अर्चना गोयल ओ पी सैनी व पंकज शर्मा शामिल थे और हेल्प डेस्क पर ड्यूटी के दौरान पैनल अधिवक्ताओं गजेंद्र दीक्षित संगीता रावत मंजुला अरोड़ा सुषमा आधाना व गगन शामिल थे.सुनील कुमार जांगड़ा की रिपोर्ट।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *