कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के एक माली की भी संदिग्ध स्थिति में मौत

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के एक माली की भी संदिग्ध स्थिति में मौत
देहरादून। कोरोना वायरस ने आज एक और महिला की जान ले ली। अल्मोड़ा की यह महिला हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती थी, जिसने बीती रात दम तोड़ दिया। वहीं कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के एक माली की भी संदिग्ध स्थिति में मौत हो गयी है जो कोरोना का इलाज करा कर 6 दिन पूर्व ही एम्स से डिस्चार्ज किया गया था।
राज्य में कोरोना से मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीती रात सुशीला तिवारी अस्पताल में एक 56 वर्षीय महिला की मौत हो गयी। इससे पूर्व इसका इलाज अल्मोड़ा अस्पताल में चल रहा था। 10 जून को इस महिला को सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिसकी कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आयी थी। राज्य में अब तक कोरोना से 27 लोगों की मौत हो चुकी है उधर राज्य में कोरोना के 67 और नये मामले आज दोपहर तक सामने आ चुके है तथा कोरोना मरीजों की कुल संख्या 1912 हो चुकी है।
राज्य में कोरोना से मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीती रात सुशीला तिवारी अस्पताल में एक 56 वर्षीय महिला की मौत हो गयी। इससे पूर्व इसका इलाज अल्मोड़ा अस्पताल में चल रहा था। 10 जून को इस महिला को सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिसकी कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आयी थी। राज्य में अब तक कोरोना से 27 लोगों की मौत हो चुकी है उधर राज्य में कोरोना के 67 और नये मामले आज दोपहर तक सामने आ चुके है तथा कोरोना मरीजों की कुल संख्या 1912 हो चुकी है। हरिद्वार ज्वालापुर के सुभाषनगर में एक महिला की रिपोर्ट पाजिटिव आयी है यह महिला कल भेल अस्पताल में जांच कराने गयी थी। महिला के पाजिटिव आने पर अब अस्पताल को सीज कर दिया गया है। वहीं परिवार को क्वांरटीन कर दिया गया है। राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब रायपुर स्टेडियम में 4 हजार बैड का अस्थायी अस्पताल तैयार किया जा रहा है। वहीं टैस्टिंग के लिए अन्य राज्यों से मदद ली जा रही है।
काबीना मंत्री सतपाल महाराज के एक माली की संदिग्ध स्थिति में मौत हो गयी। यह माली उन 22 लोगों में शामिल था जो महाराज के परिजनों के साथ कोरोना पाजिटिव मिले थे। मौके पर पहंुची टीम ने शव को अपने कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा है। मृतक माली महाराज के नेहरूग्राम स्थित ब्रहम वाटिका में कार्यरत था। माली का 10 जून को ऋषिकेश एम्स से डिस्चार्ज किया गया था। बीती रात जब उसको खाना देने गये तो उसका कमरा बंद था जिसे मंगलवार सुबह मृत पाया गया है। जांच के बाद ही पता चलेगा कि वह कोरोना से मरा है या किसी अन्य कारण से। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहंुची प्रशासन की टीम ने माली के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *